News

My Truth My Voice to the Portuguese incident In Hindi

मैं अपनी पूरी ज़िन्दगी चुप रही पर बदले में मुझे क्या मिला? बाइपोलर का रोग मिला। कई साल के ट्रीटमेंट और मौत को करीब से देखने के बाद मैंने ये निर्णय लिया की मैं अपने भावनाओ को नहीं दबाऊँगी । तोह मैंने वही किया जब एक अनजान बुज़ुर्ग ने मुझे कहाँ की मुझे कम कपड़े पेहेनना चाहिए पूल में बच्चो के साथ छुट्टियों के समाये ।
अगर ये घटना मेरे किताब लिखने के निर्णय से पहले होता तोह मैं बाकियो की तरह चुप रहती और गुन्हेगारों को कुछ नहीं होता । पर मैंने कुछ और चुना, मैंने साहस के साथ आवाज़ उठाया । डेली मिरर में आर्टिकल छपने के बाद मुझे मारने की धम्मकी और नस्लवादी टिप्पणी मिलने लगी । मैं चुप नहीं रही क्यों की मैं गलत नहीं थी, मैं खुद को तैयार कर रही थी ताकि मुझे और न सहना पड़े ।

एक इंसान और ख़ास कर एक औरत और माँ होने के नाते, २१स्ट जुलाई २०१७ को जो कुछ भी हुआ मैं उसके खिलाफ हूँ, जब एक पोर्तुगी व्यक्ति ने मुझे और मेरे परिवार को स्विमिंग पूल छोड़ देने के कहाँ क्यूंकि हमारे स्विमवेयर्स सही नहीं थे । मेरी ननद बच्चो को तैरना सीखा रहीं थी और मैं बाकी छोटे बच्चो के साथ थी । हमने बिलकुल भी अपने संस्कार का अपमान नहीं किया था I हमे एक एक करके स्विमिंग पूल से निकल कर स्विम वियर दिखाने को कहा गया और हमारा अपमान किया गया । वे हमारे रंग के आधारित पर हमारे धर्म के बारे में बोल रहे थे। हमे सिर्फ शॉर्ट्स और बिकिनी पेहेन्ने को कहां गया । एक व्यक्ति के लिए मेरे और मेरे परिवार के कपड़ो के बारे में बात करना कबसे सही हो गया ?

डर मुझे तब लगा जब मेरी ९ साल की बेटी को वही करने को कहा गया। पोर्तुगी संस्कृति के नाम पर मेरी बेटी का ये काम करना सही क्यों था ? बेटी स्विमिंग कस्टम पहनी थी और मैं लेग्गिंग्स और स्विमिंग टॉप पहनी थी ।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s